‎HareKrishna

आज कान्हा जी की मुस्कान रोके नहीं रुक रही...अकेले ही महल की छत पर बैठे हुए कृष्ण... दूर आकाश में चाँद को निहारते जा रहे हैं... और मंद मंद मुस्कुराते जा रहे हैं...कान्हा जी बार बार पीछे मुड़ के देख भी लेते हैं...की कोई उन्हें देख तो नहीं रहा... और फिर अनायास ही , अपने ख्यालों में खोकर मुस्कुराने लगते हैं...और उसी समय अर्जुन वहां पर आ आ गये... अपने सखा कृष्ण को अकेले में मुस्कुराता देखकर ...अर्जुन ने उनके आनंद में विघ्न डालना उचित ना समझा ...और चुपचाप एकांत में खड़े होकर भगवान्....

Krishna and Arjuna]“But you cannot see Me with your present eyes. Therefore I give to you divine eyes by which you can behold My mystic opulence....

जो जरा तथा मृत्यु से मुक्ति पाने के लिए यत्नशील रहते हैं, वे बुद्धिमान व्यक्ति मेरी भक्ति की शरण ग्रहण करते हैं | वे वास्तव में ब्रह्म हैं क्योंकि वे दिव्य कर्मों के विषय में पूरी तरह से जानते हैं |
Intelligent persons who are endeavoring for liberation from old age and death take refuge in Me in devotional service. They are actually Brahman because they entirely know everything about transcendental and fruitive activities....

Hindus are known to believe in the idea of reincarnation. A common misconception is that reincarnation only refers to the idea that a sinful person comes back in their next life as a rat or a tiger or some lower animal. Reincarnation actually means the soul accepts a material body and that after death, the current body is discarded and the soul enters a new one....